Type Here to Get Search Results !

Purab se jab suraj nikle |पुरब से जब सुरज निकले-| Shiv Bhajan By Shreya Ghosal

 Purab se jab suraj nikle |पुरब से जब सुरज निकले-| Shiv Bhajan By Shreya Ghosal

Purab se jab suraj nikle |पुरब से जब सुरज निकले-| Shiv Bhajan By Shreya Ghosal


पुरब से जब सुरज निकलेसिंदूरी घन छाये
पवन के पग में नुपुर बाजेमयुर मन मेरा गाये
मन मेरा गाये ओम नमः शिवाय॥
ओम नमः शिवाय॥ ओम नमः शिवाय॥
Purab se jab suraj nikle |पुरब से जब सुरज निकले-| Shiv Bhajan By Shreya Ghosal

पुष्प की माला थाल सजाउँगंगाजल भर कलश मैं लाउँ
नौ ज्योती के दीप जलाउँचरनों में नीत शीश झुकाउँ
रोम रोम रंग जाये ओम नमः शिवाय॥
ओम नमः शिवाय॥ ओम नमः शिवाय॥ 
भाव विभोर होके भक्ति में मन मेरा गाये
ओम नमः शिवाय॥ ओम नमः शिवाय॥
ओम नमः शिवाय॥
Purab se jab suraj nikle |पुरब से जब सुरज निकले-| Shiv Bhajan By Shreya Ghosal

अभ्यंकर शंकर अविनाशीमैं तेरे दर्शन की अभिलाषी
जन्मों से पूजा की प्यासीमुझ पे करना कृपा जरासी

मन मेरा गाये ओम नमः शिवाय॥
ओम नमः शिवाय॥ ओम नमः शिवाय॥
तेरे सिवा मेरे प्राणों को और कोई ना भाये



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area