Type Here to Get Search Results !

श्री कृष्ण भजन | मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर नमामि कृष्णम नमामि कृष्णम - lyricsgana.in

 मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर नमामि कृष्णम नमामि कृष्णम

मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर नमामि कृष्णम नमामि कृष्णम
Image Credit by: Tilak

कुछ बातें श्री कृष्णा धारावाहिक की

श्री कृष्णा, श्री रामानंद सागर द्वारा निर्देशित एक भारतीय धारावाहिक है, जो मूल श्री कृष्ण के जीवन पर अधारित है। यह धारावाहिक श्री कृष्ण के जीवन से सम्बंधित लीलाओं पर आधारित है। गर्ग संहिता , पद्म पुराण , ब्रह्मवैवर्त पुराण अग्नि पुराण, हरिवंश पुराण , महाभारत , भागवत पुराण , भगवद्गीता आदि पर बना धारावाहिक है, यह सीरियल की पटकथा, स्क्रिप्ट एवं काव्य में बड़ौदा के महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग के अध्यक्ष डॉ विष्णु विराट जी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसे सर्वप्रथम दूरदर्शन के मेट्रो चैनल पर 1993 में प्रसारित किया गया था| जो 1996 तक चला, 221 एपिसोड का यह धारावाहिक बाद में दूरदर्शन के डीडी नेशनल पर टेलीकास्ट हुआ, रामायण व महाभारत के बाद इसने टी आर पी के मामले में इसने दोनों धारावाहिकों को पीछे छोड़ दिया था,इसका पुनः जनता की मांग पर प्रसारण कोरोना महामारी 2020 में लॉकडाउन के दौरान रामायण श्रृंखला समाप्त होने के बाद 03 मई से डीडी नेशनल पर किया जा रहा है, TRP के मामले में 21 हफ्ते तक यह सीरियल नम्बर 1 पर कायम रहा।

कौन क्या थे श्री कृष्णा में?

निर्माता: रामानंद सागर/सुभाष सागर/प्रेण सागर
निर्देशक: रामानंद सागर / आनंद सागर / मोती सागर
मुख्य सहायक निर्देशक: योगी योगिन्दर
सहायक निर्देशक: राजेंद्र शुक्ला / श्रीधर जेट्टी / ज्योति सागर
पटकथा और संवाद: रामानंद सागर
कैमरा: अविनाश सतोस्कर
संगीत: रवींद्र जैन
गीतकार: रवींद्र जैन
पार्श्व गायक: सुरेश वाडकर / हेमलता / रवींद्र जैन / अरविंदर सिंह / सुशील
संपादक: गिरीश दादा / मोरेश्वर / आर मिश्रा / सहदेव

 मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर नमामि कृष्णम नमामि कृष्णम लिरिक्स इन हिन्दी

मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्
ये कृष्ण प्रेमी कहे निरंतर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्
राजीव लोचन अतीव सुंदर
राजीव लोचन अतीव सुंदर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्
मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्

दीन जनों की आस तुम्हीं हो
भक्तों का विश्वास तुम्हीं हो
योगी सार्थक आराधक के
अंतर का आभास तुम्हीं हो
अंतर का आभास तुम्हीं हो
है सृष्टि सारी तुम्हीं पे निर्भर
है सृष्टि सारी तुम्हीं पे निर्भर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्
मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर
नममि कृष्णम् नममि कृष्णम्

भजो रे मन हरी हरी मोहन मुरारी
भजो रे मन हरी हरी मोहन मुरारी
मोहन मुरारी गोविंद गिरिधारी
गोविंद गिरिधारी सकल दुःख हारी
ए भजो रे मन हरी हरी मोहन मुरारी
भजो रे मन हरी हरी कृष्ण मुरारी
गोविंद अनमोल है गोपाल अनमोल

हरी हरी बोल
हरी भक्ति रस के प्यासे तु भक्ति रस तो घोल
हरी हरी बोल
मोहन को देखना है तो अंतर के नैन खोल
हरी हरी बोल
बिकते हैं दीनानाथ प्रेम भावना के मोल

हरी हरी बोल
हरी हरी बोल
समझ ना आए हमको
समझ ना आए गूढ़ बातें तुम्हारी
एक साँवरे सलोने के हम हैं पुजारी
एक ब्राह्मण के छोरे से हुई है अपनी यारी
कृष्ण मुरारी हो कृष्ण मुरारी
कृष्ण मुरारी मेरा कृष्ण मुरारी

ए भजो रे मन हरी हरी कृष्ण मुरारी
सब भजो रे मन हरी हरी कृष्ण मुरारी
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा
कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा कृष्णा

ए भजो रे मन हरी हरी कृष्ण मुरारी
ए भजो रे मन हरी हरी कृष्ण मुरारी

हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे
हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे हरे 
***********जय श्री राधे*********** 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area