Type Here to Get Search Results !

मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती Lyrics

"मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती" यह एक मन मोहक भजन है, जिसको सुन के ही मन एक दम भावविभोर हो जाता है| जिसको अनिरुद्धचर्या जी महाराज जी द्वारा गया है और यह भजन लिखा भी इन्ही के द्वारा गया है| इस भजन आप पायेंगे की कैसे भक्त अपने हर दर्द को दूर करने की गुहार लगाता है|

मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती Lyrics

Song Credits –

Song: Man Me Basa Kar Teri Murti
Singer: Shri Anirudhdhacharya Ji Maharaj
Lyrics By: Shri Anirudhdhacharya Ji Maharaj

मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती Lyrics in Hindi

 मन में बसाकर तेरी मूर्ति,

उतारू में गिरधर तेरी आरती॥


करुणा करो कष्ट हरो ज्ञान दो भगवन,

भव में फसी नाव मेरी तार दो भगवन,

करुणा करो कष्ट हरो ज्ञान दो भगवन,

भव में फसी नाव मेरी तार दो भगवन,

दर्द की दवा तुम्हरे पास है,

जिंदगी दया की है भीख मांगती,

मन में बसाकर तेरी मूर्ति,

उतारू में गिरधर तेरी आरती॥

मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती

मांगु तुझसे क्या में यही सोचु भगवन,

जिंदगी जब तेरे नाम करदी अर्पण,

मांगु तुझसे क्या में यही सोचु भगवन,

जिंदगी जब तेरे नाम करदी अर्पण,

सब कुछ तेरा कुछ नहीं मेरा,

चिंता है तुझको प्रभु संसार की,

मन में बसाकर तेरी मूर्ति,

उतारू में गिरधर तेरी आरती॥


वेद तेरी महिमा गाये संत करे ध्यान,

नारद गुणगान करे छेड़े वीणा तान,

वेद तेरी महिमा गाये संत करे ध्यान,

नारद गुणगान करे छेड़े वीणा तान,

भक्त तेरे द्वार करते है पुकार,

दास व्यास तेरी गाये आरती,

मन में बसाकर तेरी मूर्ति,


मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती Lyrics in English

Man Mein Basa Kar Teri Murti,

Utaru Main Girdhar Teri Aarti.


Karuna Karo Kashta Haro Gyan Do Bhagvan,

Bhav Mein Phasi Naav Meri Taar Do Bhagvan,

Karuna Karo Kashta Haro Gyan Do Bhagvan,

Bhav Mein Phasi Naav Meri Taar Do Bhagvan,

Dard Ki Dava Tumhare Paas Hai,

Jindagi Daya Ki Hai Bhikh Maangati,

Man Mein Basa Kar Teri Murti,

Utaru Main Girdhar Teri Aarti.

मन में बसाकर तेरी मूर्ति, उतारू में गिरधर तेरी आरती

Maangu Tujhse Kya Main Yahi Sochu Bhagvan,

Jindagi Jab Tere Naam Karadi Arpan,

Maangu Tujhse Kya Main Yahi Sochu Bhagvan,

Jindagi Jab Tere Naam Karadi Arpan,

Sab Kuchh Tera Kuchh Nahin Mera,

Chinta Hai Tujhko Prabhu Sansar Ki,

Man Mein Basa Kar Teri Murti,

Utaru Main Girdhar Teri Aarti.


Ved Teri Mahima Gaye Sant Kare Dhyan,

Naarad Gungaan Kare Chhede Vina Taan,

Ved Teri Mahima Gaye Sant Kare Dhyan,

Naarad Gungaan Kare Chhede Vina Taan,

Bhakta Tere Dwar Karate Hai Pukaar,

Daas Vyas Teri Gaye Aarti,

Man Me Basa Kar Teri Murti,

Utaru Main Girdhar Teri Aarti.



More Krishna Bhajan

श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी, हे नाथ नारायण वासुदेवा

मुरली मनोहर गोविंद गिरिधर नमामि कृष्णम नमामि कृष्णम

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads Area